जग सेवा आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष जगपाल सिंह हिमाचल के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखू में मिले

Read Time:2 Minute, 1 Second

जग सेवा आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष जगपाल सिंह हिमाचल के मुख्य ioमंत्री सुखविंदर सिंह सुखू में मिले ।इस दौरान उन्होंने प्रदेश में बन रही दवाईयों की गुणवत्ता पर सवाल उठाए हैं।


जग सेवा आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष जगपाल सिंह  हिमाचल के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखू में मिले ।इस दौरान उन्होंने  प्रदेश में बन रही दवाईयों की गुणवत्ता पर सवाल उठाए हैं। ओर बददी में स्थापित दवा नियंत्रक कार्यालय में नयुक्त आला अधिकारी की शिकायत मुख्यमंत्री से की उन्होंने अपनी शिकायत करते हुए लिखा कि  नकली दवाईयों की फैक्ट्री तो पकडी गई लेकिन असली तस्कर अभी बाहर ही घूम रहे हैं।  जग सेवा आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष जगपाल सिंह राणा ने  उन्होने कहा कि हिमाचल प्रदेश के बददी में नवंबर 2022 में नकली दवा की फैक्ट्री पकडी गई थी जिससे पता चलता है कि कहीं न कहीं यहां पर नकली कारोबार को बढावा मिल रहा है। उन्होने आरोप लगाया कि यहां पर लेन देन के बगैर कुछ नहीं होता और उनके पास पर्याप्त सबूत है । जगपाल सिंह राणा ने का कि ड्रग विभाग के आला अधिकारी लंबे समय से यहां डटे हैं और अपना मूल काम छोडकर आला नेताओं के दबाब में कंपनियों को फोन करके लेबर, स्क्रैप, लोडिंग अनलोडिंग और अन्य ठेके दिलवाते हैं  जो कि गैर कानूनी है। उन्होने कहा कि इन लोगों ने अपनी नौकरी के दौरान कई संपतियां बनाई है और नकली दवाईयां भी इनके कार्यकाल में बनी है इसलिए उन्होने सीएम से यह मांग उठाई कि यह मामला सीबीआई को दिया जाए। मुख्यमंत्री ने संस्था के अध्यक्ष को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है

ओर बददी में स्थापित दवा नियंत्रक कार्यालय में नयुक्त आला अधिकारी की शिकायत मुख्यमंत्री से की उन्होंने अपनी शिकायत करते हुए लिखा कि नकली दवाईयों की फैक्ट्री तो पकडी गई लेकिन असली तस्कर अभी बाहर ही घूम रहे हैं। जग सेवा आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष जगपाल सिंह राणा ने उन्होने कहा कि हिमाचल प्रदेश के बददी में नवंबर 2022 में नकली दवा की फैक्ट्री पकडी गई थी जिससे पता चलता है कि कहीं न कहीं यहां पर नकली कारोबार को बढावा मिल रहा है। उन्होने आरोप लगाया कि यहां पर लेन देन के बगैर कुछ नहीं होता और उनके पास पर्याप्त सबूत है । जगपाल सिंह राणा ने का कि ड्रग विभाग के आला अधिकारी लंबे समय से यहां डटे हैं और अपना मूल काम छोडकर आला नेताओं के दबाब में कंपनियों को फोन करके लेबर, स्क्रैप, लोडिंग अनलोडिंग और अन्य ठेके दिलवाते हैं जो कि गैर कानूनी है। उन्होने कहा कि इन लोगों ने अपनी नौकरी के दौरान कई संपतियां बनाई है और नकली दवाईयां भी इनके कार्यकाल में बनी है इसलिए उन्होने सीएम से यह मांग उठाई कि यह मामला सीबीआई को दिया जाए। मुख्यमंत्री ने संस्था के अध्यक्ष को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
nstar india
Author: nstar india

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *