रामशहर दून विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत बरोटीवाला महाजन चौकी मे सप्तम दिन श्रीमद् सप्ताह ज्ञान यज्ञ के कथा व्यास पीठ विवेकानंद जी महाराज प्रयागराज वालों ने पंडाल में उमड़े सैकड़ों श्रोतागणों को रस सवादन करते हुए कहा

Read Time:3 Minute, 31 Second

रामशहर दून विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत बरोटीवाला महाजन चौकी मे सप्तम दिन श्रीमद् सप्ताह ज्ञान यज्ञ के कथा व्यास पीठ विवेकानंद जी महाराज प्रयागराज वालों ने पंडाल में उमड़े सैकड़ों श्रोतागणों को रस सवादन करते हुए कहा की पातक शब्द का अर्थ क्या है ,की जिस मनुष्य ने अपने जन्म मे घोर पाप किए हो उसे पातक कहते है। इंसान भगवान से अतिम समय में क्या प्रार्थना करता है ,कि गंगा जी का तट हो यमुना जी का बंसीवट हो मेरा सांवरा निकट हो। मुख में राम नाम का सुमरीन हो । जिस वक्ति की मृत्य भागवत कथा सुमिरन एवं रुक्मणी विवाह के उपरांत हुई हो तो उसे बैकुंठ लोक की प्राप्ति होती है। स्वामी जी ने कहा कि जो व्यक्ति अपने सारे काम का छोड़कर एसी में बैठकर कथा का विवेचन कर रहा हो तो उस कथा का क्या फायदा ।कथा का रसपान पंडाल में बैठकर करना चाहिए ।इसी का फल व्यक्ति को मिलता है। उन्होंने दहेज प्रथा की कृतियों पर भी स श्रोतागणों के समक्ष खुलकर प्रकाश डाला और उसका विस्तृत प्रचार एवं प्रसार प्रसंगों के माध्यम से किया। उन्होंने कृष्ण ।सुदामा की मित्रता के प्रसंगों का भी भजन सकीर्तन सुनाकर श्रोतागणों को भाव विभोर किया। स्वामी जी ने कृष्ण सुदामा की मित्रता का भजन संकीर्तन के माध्यम से


भजन सुनाते हुए कहा की अरे द्वारपालो अपने कन्हैया से कह दो कि दर पर सुदामा मित्र मिलने आया है। दूसरा भजन मे जो राम का नाम जब कर मर जाएंगे भो दुनिया में अमर कर जाएंगे। तीसरे भजन में जय जय राधा रमण गिरधारी। गिरधारी श्याम बनवारी जय जय राधा रमण गिरधारी गिरधारी श्याम बनवारी इसके अलावा भी अन्य कई भगवान श्री कृष्ण के भजन सुना कर पंडाल में उमड़े श्रोतागणों को अपनी मधुर वाणी से भावविभोर किया ।कथा के अंत में बांके बिहारी की भव्य आरती महाजन परिवारजन द्वारा संयुक्त रूप से उतारी गई ।

उसके पश्चात तमाम श्रोतागणों को प्रसाद का भंडारा वितरित किया गया ।आज कथा की पूर्णाहुति होगी ।इस कथा के जिन यजमानो ने कथा का श्री गणेश से पूर्व संकल्प ले रखा है। इस पूर्णाहुति में परिवार जन भाग लेकर एवं कथा का रसपान कर पुण्य के भागी बने। श्री स्वामी जी ने अपने मुखारविंद से छुआछूत पर भी जमकर प्रसंगों के माध्यम से प्रकाश डाला और यजमान को अपनी कथा व्यासपीठ की मधुर वाणी से सच्ची श्रद्धांजलि भी अर्पित की।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
nstar india
Author: nstar india

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *